Home Crime घातक कदम उठा रहे बैंककर्मी को पुलिस ने दी नई जिंदगी, समय...

घातक कदम उठा रहे बैंककर्मी को पुलिस ने दी नई जिंदगी, समय पर पहुंचकर ऐसे बचायी जान

5
0


हरदा. हरदा में पुलिस की तत्परता से एक युवक की जान बच गयी. युवक आत्महत्या कर रहा था. आत्महत्या से पहले उसने दोस्त को इसकी खबर कर दी थी. दोस्त ने फौरन पुलिस को सूचना दी और पुलिस फिल्मी नहीं बल्कि रियल लाइफ स्टाइल में समय पर पहुंच गयी और युवक को फांसी के फंदे से उतार लिया.

हरदा के महाराणा प्रताप कॉलोनी में फिल्मी अंदाज में एक युवक की जान बचा ली गयी. लेकिन यहां हिंदी फिल्मों की तरह पुलिस लेट लतीफी करके नहीं बल्कि समय पर पहुंच गयी. फांसी के फंदे पर झूल चुका युवक बचा लिया गया. उसकी जान बचाने में उसके दोस्त और पुलिस दोनों ने सराहनीय काम किया.

पारिवारिक विवाद से परेशान
महाराणा प्रताप कॉलोनी में रहने वाला सौरभ विश्वकर्मा बैंक कर्मी है. वो बीती रात फांसी के फंदे पर झूल गया था. फांसी लगाने से पहले सौरभ ने अपने किसी दोस्त को व्हाट्सएप पर फंदे का फोटो भेजा था. दोस्त ने पुलिस को सुचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खोलने के प्रयास किये. युवक की जान बच जाए यह सोचकर पुलिसकर्मियो ने हथोड़े से दरवाजा तोड़ दिया. सौरभ तब तक फंदे पर झूल चुका था लेकिन उसकी सांस चल रही थी. पुलिस ने फौरन उसे फंदे से उतारकर अस्पताल पहुंचाया. समय पर इलाज मिलने के कारण रहे युवक की जान बच गयी.

ये भी पढ़ें- स्कूल में धर्मांतरण : मास्टरमाइंड मेनिस मैथ्यूज निकला बीजेपी समर्थक, फोटो वायरल

जाको राखे साइंया
कहते हैं जाको राखे साइंया मार सके न कोई. बीती रात हरदा में इसी तरह का वाकया देखने को मिला. शहर के निजी बैंक में केशियर सौरभ विश्वकर्मा पारिवारिक विवाद में परेशान होकर पंखे पर रस्सी का फंदा बांधकर झूल गया था. इस घटनाक्रम के पहले उसने  फंदे का  एक फोटो अपने दोस्त केशव को भेजा. केशव के पैरों तले जमीन खिसक गयी. उसने आनन-फानन में पुलिस को फोन किया. पुलिस भी भागी भागी बताए गए पते पर पहुंच गयी.

ये भी पढ़ें- CM शिवराज की फटकार के बाद MP में नये तरीके से काम करेगा खुफिया तंत्र,मास्टर प्लान तैयार

दरवाजा तोड़ कमरे में घुसी पुलिस
पुलिस सौरभ के घर पहुंची तो उसके कमरे का दरवाजा बंद था और वो अंदर था. खटखटाने पर अंदर से कोई जवाब नहीं आया. पुलिस ने बिना इंतजार किए घर का दरवाजा तोड़ा और अंदर घुस गयी. सौरभ फंदे पर लटका हुआ था. पुलिस कर्मियों ने उसे तत्काल नीचे उतारा. उसकी सांस चल रही थी. उसे फौरन डायल 100 से जिला अस्पताल लाया गया. सौरभ की हालत अब बेहतर है.

पुलिस का धन्यवाद
थोड़ी देर में सौरभ होश में आ गया. उसने बताया कि वह पारिवारिक समस्या के कारण परेशान था. इसलिए उसने यह कदम उठया. सौरभ ने पुलिसकर्मियो को अपनी जान बचाने के लिए धन्यवाद दिया.

जिंदगी और मौत के बीच का डेढ़ घंटा
इस पूरे समय  में सौरभ के घर, पड़ोसी, दोस्त और पुलिस कर्मी बस यही सोच रहे थे कि सौरभ को कैसे बचाएं. रात सवा नौ बजे सौरभ ने दोस्त को फोटो भेजा. फौरन पुलिस पहुंच गयी. उसके बाद दरवाजा खोलने का असफल प्रयास हुआ. बाद में सेंटरलॉक तोड़ा गया. युवक की जान बचाने में अहम योगदान देने वाले पुलिस कर्मी तुषार ने कहा की उन्हें खुशी है कि युवक बच गया. सिटी कोतवाली पुलिस के एसआई सीतराम पटेल ने बताया कि सौरभ का चार साल का बेटा है सारथि. सौरभ मूलतः देवास के कन्नोद का रहने वाला है. हरदा में निजी बैंक में नौकरी करता है. यहां किराये के मकान में रहता है.

Tags: Harda information, Madhya pradesh newest information, Suicide try

Previous articleनई खरीदी कार को लेकर घूमने निकले थे 3 सगे भाइयों समेत परिवार के 5 युवक, सड़क हादसे में सभी की मौत
Next articleसुप्रीम कोर्ट के फैसले पर नवजोत सिंह सिद्धू ने दी पहली प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here