Home Central Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY)

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY)

146
0

प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई)

प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) 28 अगस्त 2014 को नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शरूु की गई थी।भारत में यह योजना इस देश के नागररकों के सामाजजक और आर्थकि कल्याण को संबोर्धत करने के उद्देश्य से शरूु की गई हैं।

यह ककस्तों, ऋण, बीमा, पेंशन, बकैं कं ग बचत और जमा खातों सहहत ववभभन्न ववत्तीय सेवाओं को सीधा देश के ककसानो व देश के नागररको तक पहुंचने का काम प्रदान करने के उद्देश्य से एक राष्ट्रीय भमशन है। इस योजना की घोषणा पहली बार प्रधानमत्रं ी नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को अपने स्वतंत्रता हदवस के संबोधन में की थी।

प्रधान मंत्री जन धन योजना एक ववत्तीय समावेशन अभभयान हो सकता है जो बकैंकंग सवुवधाओं तक सावभि ौभमक पहुुँच प्रदान करता है। यह कम से कम एक मलू बकैं खाते के साथ भारत में हर घर के भलए ववत्तीय साक्षरता सनु नजश्चत करता है।भारत सरकार की ववत्तीय समावेशन कायक्रि म प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) के तहत अब तक 400 भमभलयन से अर्धक बकैं खाते खोले गए हैं।

ये योजनाएुँ भारतीय समाज को प्रभाववत करने वाली कई सामाजजक-आर्थकि समस्याओं को हल करने में महत्वपणू ि भभू मका ननभाती हैं और इस प्रकार की ककसी भी संबंर्धत नागररक के भलए उनकी जागरूकता आवश्यक है।

नवीनतम आंकडों के अनसु ार, 40.05 करोड लोगों ने अब तक जन धन खाते खोले हैं और इन खातों में जमा राभश 1.30 लाख करोड रुपये से अर्धक है। ववत्त मंत्रालय के तहत मौहद्रक सेवा ववभाग (डीएफएस) न े ए क ट् व ी ट क े द ौ र ा न क ह ा क क द न ु न य ा क ा स ब स े ब ड ा व व त्त ी य रू प स े श ा भ म ल क ा य क्रि म प ी ए म ज े ड ी ह ै । इ स योजना के तहत खोले गए खातों की संख्या 40 करोड को पार कर गई है।

उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य देश के सभी लोगों को बकैंकंग सुववधाओं से जोडना है। पीएमजेडीवाई के तहत खोले गए जन धन खाते सामान्य बचत खाते हैं। उनके साथ,ओवरड्राफ्ट देने के भलए रुपे काडि और खाताधारकों को अनतररक्त सवु वधा दी जाती है। इस खाते में, खाताधारक को हर समय खाते में एक न्यनू तम शेष राभश रखने की आवश्यकता नहीं होती है।

पीएमजेडीवाई योजना का उद्देश्य सभी के भलए बकैं कंग प्रणाली तक पहुुँच सनु नजश्चत करना है और साथ ही साथ समाज के कमजोर और ननम्न आय वगि से जडु े प्रत्येक वयस्क को एक बचत बचत खाता प्रदान

करना है, ताकक आवश्यकता के अनसु ार ऋण प्राप्त ककया जा सके और बीमा और पेंशन सवु वधाएं उपलब्ध हों सकें ।

इस योजना का उद्देश्य बकैं के साथ जडु ना था। यह मेरा देश था जहाुँ हमारी सरकार ने भारत के हर गरीब नागररक की मदद करने की योजना बनाई।

इस योजना का उद्देश्य यह है कक कुछ पैसे गरीब लोगों को उनके जन-धन खातों में सीधे भजे े जाते हैं क्योंकक जब पैसा सरकारी कमचि ाररयों द्वारा भेजा जाता है: तो वह पैसा जनता तक नहीं पहुुँचता है,या बहुत कम पैसा जनता तक पहुुँचता है और । प्रत्येक चरण पर और प्रत्येक चरण में एक या दसू रे
व्यजक्त के पास बहुत सारे कदम होते हैं, जो पैसे को हडपने के भलए बठै े होते हैं, जजसके कारण पैसे धीरे- धीरे नीचे जाते हैं, इसभलए वे लोगों तक नहीं पहुंचते हैं या वे बहुत कम लोगों तक पहुंचते हैं। जबकक
पैसा हमारे देश के सभी लोगों तक पहुंचना चाहहए। इसभलए, प्रधान मंत्री ने यह योजना शरूु की। जन धन योजना बचत खाते के तहत कई सवु वधाएं भी उपलब्ध होंगी और देश के सभी गरीबों का पैसा सीधे उनके खातों में स्थानांतररत ककया जाएगा। एक सामान्य बचत खाते के ववपरीत, यहद सरकार आपके भलए ककसी भी तरह की योजना बनाती है, तो: यह योजना के सारे पैसे सीधे आपके बचत खाते में भेजता है।

इस योजना के तहत कुछ लाभ ननम्नभलखखत हैं:

  1. यह योजना शहरी और ग्रामीण क्षत्रे ों को कवर करती है और इसके प्रत्येक खाताधारक को एक देसी डेबबट काडि (रुपे काड)ि प्रदान करती है।
  2. इस योजना के तहत खाता खोलने के भलए कोई न्यनू तम शेष राभश की आवश्यकता नहीं है। लाभाथी ककसी भी बकैं शाखा या व्यावसानयक पत्र अननु य की दकु ान पर जीरो बैलेंस पर अपना खाता खोल सकते हैं।
  3. यह USSD सवु वधाओं का उपयोग करके कोर बकैं कं ग भसस्टम (CBS) पर मोबाइल बकैं कं ग सनु नजश्चत करता है। कॉल सेंटर और एक टोल फ्री नंबर राष्ट्रव्यापी उपलब्ध हैं।
  4. प्रधानमंत्री जन धन योजना प्रत्येक लाभाथी को इनबबल्ट दघु टि ना बीमा के साथ-साथ डेबबट काडि औ र म फ्ु त ब क ैं क ं ग ख ा त े प्र द ा न क र त ी ह ै ।
  5. आधार से जडु े खातों के भलए Rs.5000 ओवरड्राफ्ट सवुवधा के साथ-साथ रुपे डबेबट काडि इनबबल्ट रु। 1 लाख दघु टि ना बीमा कवर इस योजना द्वारा प्रदान की जाने वाली प्रमखु ववशेषताओं में से एक है।
  6. 15 अगस्त 2014 से 26 जनवरी 2015 के बीच खोले गए खातों के भलए, पात्र लाभार्थयि ों को रुपये का जीवन बीमा कवर हदया जाता है। 30,000। इसके अलावा, 6 महीने तक सकक्रय रहने के बाद, लाभाथी रु। 5000 तक की ओवरड्राफ्ट के भलए पात्र होगा। 3 अगस्त, 2020 तक, यह बताया गया कक सरकार के प्रमखु ववत्तीय समावेशन अभभयान के तहत 400 भमभलयन से अर्धक बकैं खाते खोले गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here